Fri. Apr 10th, 2020

तर्पण पत्रिका

मुखर प्रतिरोध की त्रैमासिकी…

कुपोषण है शत्रु बड़ा बलवान
इसे मिलकर भगाना है
चलिए अब हम सबको
जागरूकता का अलख जगाना है

जागरूकता ऐसी की बच्चे हो
स्वस्थ सेहतमंद
न कम हो ऊँचाई और
न कम हो वजन

खाने में शामिल हो
पौष्टिक, संतुलित आहार
विटामिन ,प्रोटीन,वसा,कार्वोहाइड्रेटयुक्त
भोजन करना है तैयार

माँ के अलावा अभिभावकों की
जिम्मेदारी की जरूरत है
बच्चे को खाना खिलाइए
बच्चे तो भगवान की मूरत है।

कवियत्री निभा कुमारी
(राजनगर ,मधुबनी , बिहार)